सितम्बर 2021 से गंगा में एक भी बूंद गंदा पानी नहीं गिरेगा । कमिश्नर

वाराणसी के कमिश्नर दीपक अग्रवाल से साक्षात्कार में उन्होंने बताया कि  

गंगा की निर्मलता में बहुत ही साकारात्मक बदलाव् हुवा है। उसका मुख्य रूप से गंगा में जो दूषित पानी का गिरना बंद करवाया गया है।

 विभिन्न एस  टी पी  के माध्यम से दूषित पानी को ट्रीट कर के छोड़ा जा रहा है गोइठहा में 120(एम् एल डी ) पानी , दीना पुर 140 (एम् एल डी) और तीसरा रमना  40 से 50 (एम् एल डी) पानी जो अस्सी नदी से हो कर गंगा में मिल रहा है ।

 दूसरी तरफ रामनगर में लगभग 50 (एम् एल डी) की क्षमता क्टी पी का कार्य बहुत तेजी से चल रहा है जिसकी टेस्टिंग हो चुकी है। जिसके माध्यम से रामनगर से होकर  आने वाली दूषित पानी  ट्रीट होकर अगस्त से ही गंगा में गिरेगा।

उन्हों ने बताया कि राज घाट से आने वाला ओवरफ्लो का पानी को ट्रैप किया जा रहा है । तथा गंगा में मिलने वाली सहायक नदियों में मिलने वाले नालो को भी ट्रैप कर बंद किया जा रहा है ये सारे काम सितंबर 2021 तक पूर्ण हो जायेगा और काशी में एक बूँद पानी गन्दा पानी गंगा में नहीं जायेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *