परिवार चाहता है की जल्दी मिले अनुज का शव

cleanmediatoday.blogspot.com

परिवार चाहता है की जल्दी मिले अनुज का शव 
क्लीन मीडिया संवाददाता 

पुणे, 31 दिसम्बर (सीएमसी) : ब्रिटिश और भारतीय अधिकारियों की ओर से आश्वासन मिलने के बावजूद मैनचेस्टर में मारे गए छात्र अनुज बिदवे के अभिभावक अपने बच्चे के शव के लिए यहां वहां दौड़ रहे हैं। घृणा हिंसा के शिकार हुए अनुज के शव को दूसरे पोस्टमार्टम के लिए अभी मैनचेस्टर में ही रखा गया है।
तीन महीने पहले ही लैंस्टर यूनिवर्सिटी में पढ़ने गए 23 वर्षीय अनुज की हत्या के गम में डूबे अभिभावकों ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण से मुलाकात कर अनुरोध किया कि वह अनुज के शव को जल्दी वापस लाने में मदद करें। गुरूवार को पुणे आए चव्हाण से अनुरोध किया गया कि वह अंतिम संस्कार के लिए अनुज का शव जल्दी भारत लाने में उनकी मदद करें।
अनुज के परिवार को उसकी हत्या के बारे में फेसबुक पर उसके दोस्तों के कमेंट से पता चला। ब्रिटेन में क्रिसमस की छुट्टियों के कारण अनुज के शव को भारत लाने में देर हो रही है। विदेश मंत्री एस. एम. कृष्णा को लिखे गए एक पत्र की प्रति दिखाते हुए अनुज के बहनोई राकेश सोनावने ने कहा, ‘हम अनुज के शव को वापस पुणे लाने के लिए प्रक्रियाओं को तेज करने के लिए विदेश मंत्री एस. एम. कृष्णा से संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं।’ सोनावने ने कहा कि ब्रिटिश कानून के मुताबिक मैनचेस्टर पुलिस द्वारा इस सप्ताह मामले की जांच समाप्त होने के बाद ही दूसरा पोस्टमार्टम होगा।
सोनावने ने कहा, ‘ब्रिटिश कानून के मुताबिक शव को पुणे लाने से पहले उसका दूसरा पोस्टमार्टम करना जरूरी है। क्रिसमस की छुट्टी के कारण कर्मचारियों की कमी है, इसलिए हम ग्रेट मैनचेस्टर पुलिस और कर्नल से अनुरोध कर रहे हैं कि वह जितनी जल्दी संभव हो दूसरा पोस्टमार्टम कर दें।’ मुख्यमंत्री ने अनुज के परिवार को मदद का अश्वासन दिया है।