भारत-मलेशिया में क्वार्टर फाइनल कल

Oh yes,this is the true story! cleanmediatoday.blogspot.com
भारत-मलेशिया में क्वार्टर फाइनल कल 
क्लीन मीडिया संवाददाता 

जोहानिसबर्ग, 30 नवम्बर (सीएमसी) : लगातार दो जीत दर्ज करने वाली भारतीय हॉकी टीम चैम्पियंस चैलेंज टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में गुरुवार को मलेशिया से भिड़ेगी तो उसे आत्ममुग्धता से बचना होगा। भारत पूल ए में शीर्ष पर रहा जबकि मलेशिया पूल बी की आखिरी टीम होने के बावजूद नॉकआउट चरण में पहुंची है क्योंकि नए प्रारूप के तहत सभी आठ टीमें क्वार्टर फाइनल खेलेंगी। मेजबान दक्षिण अफ्रीका और पोलैंड के खिलाफ दो बड़ी जीत से भारत का आत्मविश्वास बढ़ा है लेकिन मलेशिया का लक्ष्य तीन ग्रुप मैचों में खराब प्रदर्शन के बाद प्रतिष्ठा बचाने का होगा।
 भारत को मलेशिया पर मनोवैज्ञानिक बढत हासिल है लेकिन पिछले साल एशियाई खेलों के सेमीफाइनल में इसी टीम ने भारत को हराया था । युवा खिलाड़ियों से सजी भारतीय टीम एशियाई चैम्पियंस ट्राफी जीतने के बाद से आत्मविश्वास से ओतप्रोत है। भारत का जोर आक्रामक हॉकी पर रहा है।
 भारतीय टीम को दिल्ली में फरवरी में ओलंपिक क्वालीफायर खेलने हैं जिसमें कनाडा, फ्रांस और मिस्र भी होंगे। भारतीय कोच माइकल नोब्स का कहना है कि टीम का फोकस क्वालीफायर से पहले आक्रामक हॉकी पर है ।
नोब्स ने कहा, चैम्पियंस चैलेंज हमारा जोर आक्रामक हॉकी पर रहा है और हम इस पर काम करते रहेंगे। चैम्पियंस चैलेंज के विजेता को चैम्पियंस ट्रॉफी खेलने का मौका मिलेगा लेकिन हमारा फोकस ओलंपिक क्वालीफायर पर है ।
 नोब्स ने कहा कि भारतीय टीम अपने विरोधियों के सामने सभी रणनीतियां उजागर नहीं करेगी भले ही उसे गुरुवार से शुरू हो रहे नॉकआउट चरण में कुछ नुकसान उठाना पड़े। उन्होंने कहा, हम सारी रणनीतियों का खुलासा नहीं करेंगे। भले ही इससे हमें नॉकआउट मैचों में कुछ नुकसान उठाना पड़े।